अथ अर्गला स्तोत्र Argala Stotra

 नमश्चण्डिकायै नम: ||  नमश्चण्डिकायै नम: ||   नमश्चण्डिकायै नम:  नमश्चण्डिकायै नम: ||  नमश्चण्डिकायै नम: ||   नमश्चण्डिकायै नम:  नमश्चण्डिकायै नम: || नमश्चण्डिकायै नम:  || नमश्चण्डिकायै नम:   मार्कण्डेयजी कहते है – जयन्ती मंगला, काली, भद्रकाली कपालिनी, दुर्गा, क्षमा, शिवा धात्री, स्वाहा और स्वधा इन नामों से प्रसिद्ध देवी! तुम्हें मैं नमस्कार करता हूँ, हे Read more…

Give some Likes to Authors